Mohabbat Shayari – कहीं से मिल जाते वो अल्फाज़ हमें भी


कहीं से मिल जाते वो अल्फाज़ हमें भी,
जो तुझे बता देते के हम शायर कम तेरे आशिक ज्यादा हैं ॥

Leave a Reply