Mohabbat Shayari – जख्म खरीद लाया हूँ बाजार- ए- दर्द से


जख्म खरीद लाया हूँ बाजार- ए- दर्द से,
दिल जिद कर रहा था मुझे मोहब्बत चाहिए!!

Leave a Reply