Sad Sher O Shayari In Hindi – कहाँ तक आँख रोएगी कहाँ तक किसका ग़म होगा


कहाँ तक आँख रोएगी कहाँ तक किसका ग़म होगा,
मेरे जैसा यहाँ कोई न कोई रोज़ कम होगा…

Leave a Reply