Dard Shayari – जो लोग दर्द को समझते हैं


जो लोग दर्द को समझते हैं
वो लोग कभी भी दर्द की वज़ह नही बनते…….

Dard Shayari – तुम्हे क्या पता किस दर्द मे हूँ मैं

तुम्हे क्या पता, किस दर्द मे हूँ मैं..
जो लिया नही, उस कर्ज मे हूँ मैं..!

Dosti Shayari – घड़ी की सुईयों जैसा रिश्ता है हमारा दोस्तों


घड़ी की सुईयों जैसा रिश्ता है, हमारा दोस्तों
कभी मिलते है.. कभी नहीं.. पर हाँ, जुड़े रहते हॆ।