December Shayari In Hindi – काश कोई अपना संभाल ले


काश कोई अपना संभाल ले मुझको,
बहुत कम बचा हूँ बिल्कुल दिसम्बर की तरह।

December Shayari In Hindi – ये सर्द हवाएँ बिखरे पत्ते और

ये सर्द हवाएँ,बिखरे पत्ते और तन्हाई,
ऐ दिसम्बर तू सब कुछ ले आया है सिवाय उसके