Missing You Shayari – खुल जाता है तेरी यादों का बाज़ार सरेआम


खुल जाता है तेरी यादों का बाज़ार सरेआम।
फ़िर मेरी रात इसी रौनक में गुज़र जाती है॥

Missing You Shayari – शुबह होती नही शाम ढलती नही

शुबह होती नही शाम ढलती नही,
नज़ाने क्या खूबी है आप मे के
आप को यादकिए बिना खुशी मिलती नही…

Missing You Shayari – तुम्हारे बगैर ये वक़्त ये दिन और ये रात

तुम्हारे बगैर ये वक़्त, ये दिन और ये रात….!!
जान मेरी….!!
गुजर तो जाते हैं मगर, गुजारे नहीं जाते….!!!

Missing You Shayari – चले आते हो बिना वजह खयालो मे


चले आते हो बिना वजह खयालो मे,
एक वजह तो बताते दूर होने की..!!

1 2