Hindi Shayari – नज़ाकत तुम में है


नज़ाकत तुम में है…*
इबादत तुम में है…

शरारत तुम में है…
कशिश भी तुम में है…

मुझ में भी मैं कहाँ बचा अब…
*मेरा जो कुछ भी है, सब तुम में है।

Hindi Shayari – बनारस की सुबह तू ही

बनारस की
सुबह तू ही अवध की शाम हो जाये…

मेरे
दिल की
हर एक धडकन तुम्हारे नाम हो जाये…

नशे में डूबती
आँखें जब तुम्हारी मुझे देखें….

कहीं ऐसा ना
हो दिल में मेरे कोहराम हो जाये 💕..